वैगनर प्रमुख येवगेनी प्रिगोझिन की कैसे हुई मौत-हादसा या साजिश!

194
मॉस्को- रूस की राजधानी मॉस्को के उत्तर में एक निजी विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से वैगनर प्रमुख येवगेनी प्रिगोझिन समेत 10 की मौत हो गई. रूसी विमानन एजेंसी ने वैगनर प्रमुख के दुर्घटनाग्रस्त विमान में सवार होने की पुष्टि की. खबर के मुताबिक, दुर्घटनाग्रस्त विमान में वैगनर प्रमुख प्रिगोझिन सवार थे, इस हादसे में कोई यात्री जीवित नहीं बचा यानी वैगनर प्रमुख की इस दुर्घटना में मौत हो गई है.

मॉस्को से सेंट पीटर्सबर्ग जा रहा था विमान

रूस की सरकारी समाचार एजेंसी ‘तास’ के मुताबिक, विमान में तीन पायलट और सात यात्री सवार थे.रूस के नागरिक विमानन नियामक ‘रोसावियात्सिया’ के अनुसार, प्रीगोझिन यात्री सूची में शामिल थे. विमान मॉस्को से सेंट पीटर्सबर्ग जा रहा था और राजधानी से 100 से अधिक किलोमीटर दूस त्वेर क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गया. उड़ान संबंधी डेटा के अनुसार, निजी विमान ने बुधवार शाम को मॉस्को से उड़ान भरी और कुछ मिनट बाद ही इसका संपर्क टूट गया. संपर्क किसी ग्रामीण क्षेत्र में टूटा जहां आसपास कोई हवाई क्षेत्र नहीं है जहां विमान सुरक्षित रूप से उतर सकता था.
हादसे में मारे गए मृतकों की सूची में: 
  1. येवगेनी प्रिगोझिन,
  2. प्रोपुस्टिन सर्गेई,
  3. मकरयान इवेनी,
  4. टॉटमिन एलेक्जेंडर,
  5. चेकालोव वलेरी,
  6. उत्कीन दमेत्री,
  7. मॉटूसीव निकोलाय, इनके साथ क्रू मेंबर,
  8. लेवसीन एलेक्सी-कमांडर,
  9. करीमोव रूस्तम, को- पायलट तथा
  10. फ्लाईट एटेंडेट, रसपोपोवा क्रिस्टीना इस विमान में सवार थे.

वैगनर का आधिकारिक बयान-रूस के गद्दारों की वजह से रूस का हीरो मारा गया

खबर के मुताबिक, जिस वक्त प्रीगोझिन का विमान क्रैश हुआ उस वक्त रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन कुर्स्क में युद्ध में शामिल सैनिकों को वीरता पुरस्कार दे रहे थे.वैगनर ने प्रीगोझिन की मौत आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा है कि, ”रूस के गद्दारों की वजह से रूस का हीरो और वैगनर प्रमुख इवगेनी प्रीगोझिन मारा गया”.

रूस के सैन्य नेतृत्व के खिलाफ वैगनर चीफ ने किया था सशस्त्र विद्रोह

इस हादसे को साजिश की नजर से भी देखा जा रहा है दरअसल  में, यूक्रेन में रूस की सेना के साथ युद्ध लड़ने वाली प्रीगोझिन की निजी सेना वैग्नर ने जून में रूस के सैन्य नेतृत्व के खिलाफ कुछ वक्त के लिए सशस्त्र विद्रोह कर दिया था. इसके बाद बेलारूस के राष्ट्रपति लूकासेंको की मध्यस्तता के बाद यह मामला सुलझा था. येवगेनी प्रिगोझिन ने 24 जून को एक वीडियो संदेश जारी कर ऐलान किया था कि वह 25 हजार सैनिकों के साथ मॉस्को की तरफ बढ़ रहे हैं. उन्होंने सीधे व्लादिमीर पुतिन को चुनौती देते हुए कहा था कि 24 घंटे के अंदर रूस को नया राष्ट्रपति मिलने जा रहा है. रूसी सैन्य कमांडरों के साथ मतभेदों के कारण वैगनर ग्रुप का यह विद्रोह सामने आया था. हालांकि 24 घंटे से भी कम समय में येवगेनी प्रिगोझिन ठंढे पड़ गए खत्म और वैगनर ग्रुप का सशस्त्र विद्रोह खत्म हो गया. बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको ने विद्रोह खत्म कराने में अहम भूमिका निभाई थी.  क्रेमलिन ने कहा था कि, प्रीगोझिन को बेलारूस निर्वासित किया जाएगा और उनके लड़ाके या तो सेवानिवृत्त हो जाएंगे, उनके साथ चले जाएंगे या रूसी सेना में शामिल हो जाएंगे.
हादसा या साजिश ! अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने पुतिन पर उठाया सवाल
प्रीगोझिन की मौत को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने रूस के ऱाष्ट्रपति पुतिन पर सवाल उठाते हुए कहा है कि, रूस में ऐसा कुछ नहीं होता जो पुतिन चाहते हों.
बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक वैगनर से जुड़े टेलीग्राम चैनल ग्रे जोन ने बताया कि एम्ब्रेयर विमान को मॉस्को के उत्तर में त्वेर क्षेत्र में हवाई सुरक्षा बलों की ओर से मार गिराया गया. ग्रे जोन ने कहा कि स्थानीय लोगों ने दुर्घटना से पहले दो धमाकों की आवाजें सुनी और उन्होंने हवा में धुएं के दो निशान देखे.
Previous articleपीएम मोदी ने किया मजबूत ब्रिक्स का आह्वान
Next articleबाहर निकला रोवर ‘प्रज्ञान’-चांद की सतह पर लगाएगा चक्कर