शराब नीति पर सीबीआई के चंगुल में सिसोदिया

326

New Delhi: दिल्ली की शराब नीति में भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर सीबीआई ने दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर छापेमारी की. सीबीआई सूत्रों ने कहा कि, एजेंसी के अधिकारियों ने एक लोक सेवक के घर से नई आबकारी नीति से संबंधित गोपनीय आधिकारिक फाइलें जब्त की हैं. जिसका आम आदमी पार्टी सरकार ने जोरदार विरोध किया. डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के आवास सहित दिल्ली-एनसीआर में 21 स्थानों पर सीबीआई की छापेमारी चली. सीबीआई की कार्रवाई आबकारी नीति मामले में हो रही है. सीबीआई की इस कार्रवाई का संदीप दीक्षित ने समर्थन किया है.

सीबीआई की FIR में ये हैं आरोपी

CBI ने मनीष सिसोदिया समेत 15 लोगों के खिलाफ छापे से दो दिन पहले यानी 17 अगस्त को ही FIR दर्ज कर ली थी. CBI ने अपनी FIR में मनीष सिसोदिया समेत 15 लोगों को नामजद आरोपी बनाया है. दिल्ली डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, तत्कालीन आबकारी आयुक्त अरवा गोपीकृष्णा, तत्कालीन आबकारी उपायुक्त आनंद तिवारी, आबकारी अतिरिक्त आयुक्त पंकज भटनागर, एंटरटेनमेंट एंड इवेंट मैनेजमेंट कंपनी ऑनली मच लाउडर के सीईओ विजय नायर, पेरनोड रिकार्ड के पूर्व कर्मी मनोज राय, ब्रिंडको सेल्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक अमनदीप ढल, इंडोस्प्रिट ग्रुप के प्रबंध निदेशक समीर महेंद्रु, बडी रिटेल प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक अमित अरोड़ा, फर्म बडी रिटेल प्राइवेट लिमिटेड, दिनेश अरोड़ा, फर्म महादेव लिकर्स, महादेव लिकर्स के वरिष्ठ अधिकारी सन्नी मारवाह, अरुण रामचंद्र पिल्लई, अर्जुन पांडे व अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

14 घंटे से ऊपर तक चली रेड

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर CBI की रेड  तकरीबन 14 घंटों तक चली. सुबह 8 बजे छापेमारी शुरू हुई थी जो रात के 10.28 बजे तक चली. CBI की टीम सिसोदिया के घर पर मौजूद रहे. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक,मनीष सिसोदिया के आवास पर फिजिकल सर्च खत्म हो चुकी है. ईमेल्स का डंप लिया जा रहा है. जब्त किए गए कागजात और इलेक्ट्रॉनिक एविडेन्स का सीजर मेमो भरा.

AAP और केंद्र सरकार के बीच बढ़ा तनाव.

सीबीआई की इस कार्रवाई से आम आदमी पार्टी और केंद्र सरकार के बीच तनाव बढ़ गया है.‘आप’ ने आरोप लगाया है कि एजेंसी ‘‘ऊपर से मिले’’ आदेशों पर काम कर रही है. अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने पिछले साल नवंबर में लाई गई दिल्ली आबकारी नीति बनाने और उसके क्रियान्वयन में कथित अनियमितताओं के संबंध में एक प्राथमिकी दर्ज करने के बाद सिसोदिया और भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी आरव गोपी कृष्ण के परिसरों के अलावा 19 स्थानों पर शुक्रवार को छापा मारा. सीबीआई के दलों की देशभर में छापेमारी और सिसोदिया के मध्य दिल्ली स्थित आवास के बाहर ‘आप’ समर्थकों का जमावड़ा लगने के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है और एजेंसी को उन्हें परेशान करने के लिए ‘‘ऊपर से’’ आदेश दिए गए हैं.

केजरीवाल ने क्या कहा ?

सीबीआई की कार्रवाई पर केजरीवाल ने एक ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ हमारी राह में, हमारे अभियान में कई रोड़े अटकाए जाएंगे. सिसोदिया के खिलाफ यह पहली छापेमारी नहीं है, पहले भी छापेमारी की गई है. मेरे और मेरे कई मंत्रियों के खिलाफ छापे मारे गए हैं, लेकिन उनमें कुछ भी नहीं निकला और इस बार भी कुछ नहीं निकलेगा’’

ED की भी हो सकती है इंट्री

दिल्ली सरकार की आबकारी नीति और उससे जुड़े भ्रष्‍टाचार के मामले में जल्द ही केंद्रीय जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय यानी ED की एंट्री हो सकती है. ED मुख्यालय द्वारा CBI को खत लिखा गया है. ED जल्द ही CBI द्वारा दर्ज इस केस को ओवरटेक कर सकती है. सुत्रों के हवाले से खबर है कि, ईडी ने CBI द्वारा दर्ज FIR की कॉपी समेत अन्य दस्तावेजों की कॉपी मांगी है.

आरोपी व्यक्तियों के नाम

 

Previous articleपटना की ग्रेजुएट चायवाली क्यूं फूट-फूट कर रोई ?
Next articleअनोखा-कैसे हो रही है ड्रीम बिल्डिंग की कम्पलीट शिफ्टिंग