द्वारकाधीश के दर पर पीएम मोदी

656

पीएम मोदी ने द्वारका में भगवान श्रीकृष्ण मंदिर में की पूजा-अर्चना

गुजरात के दौरे पर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को द्वारकाधीश मंदिर में पूजा अर्चना की और समुद्र में डूबी प्राचीन द्वारका नगरी के भी दर्शन किया. इस अनुभव को अपने ”एक्स” सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर पोस्ट करते हुए पीएम मोदी ने लिखा है कि, 
‘’ये सिर्फ समुद्र में एक डुबकी नहीं थी बल्कि समय यात्रा थी. प्रधानमंत्री ने कहा कि, पानी में डूबी द्वारिका नगरी में प्रार्थना करना बहुत ही दिव्य अनुभव था. मुझे आध्यात्मिक वैभव और शाश्वत भक्ति के एक प्राचीन युग से जुड़ाव महसूस हुआ. भगवान श्री कृष्ण हम सभी को आशीर्वाद दें’’.
उन्होंने यहां एक सार्वजनिक समारोह में भाग लेने से पहले पानी में स्कूबा डाइविंग करते हुए कुछ तस्वीरें भी साझा कीं. मोदी ने द्वारका में भगवान श्रीकृष्ण मंदिर में पूजा-अर्चना भी की. पीएम मोदी ने अरब सागर में बेयट द्वारका द्वीप को मुख्य भूमि ओखा से जोड़ने वाले देश के सबसे लंबे केबल-आधारित पुल ‘सुदर्शन सेतु’ का भी  उद्घाटन किया.

ओखा मुख्य भूमि और बेट द्वारका द्वीप को जोड़ने वाले  सेतु का उद्घाटन 

पीएम मोदी ने आज ओखा मुख्य भूमि और बेट द्वारका द्वीप को जोड़ने वाले सुदर्शन सेतु का उद्घाटन किया, जिसे लगभग 980 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है. लगभग 2.32 किलोमीटर लंबा यह सेतु का देश का सबसे लंबा केबल-आधारित सेतु है. पीएम मोदी ने एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि,
 “ओखा मुख्य भूमि और बेट द्वारका द्वीप को जोड़ने वाला सुदर्शन सेतु लगभग 980 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है. लगभग 2.32 किलोमीटर लंबा यह सेतु का देश का सबसे लंबा केबल-आधारित सेतु है’’.

 

चुनावी साल में पीएम मोदी का धार्मिक स्थलों का दौरा जारी

चुनावी साल में पीएम मोदी धर्मिक स्थलों का लगातार दौरा कर रहे हैं. अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा से पहले पीएम मोदी ने 20 और 21 जनवरी को दक्षिण भारत के श्री अरुलमिगु रामनाथस्वामी मंदिर और कोठंडारामास्वामी मंदिर का दौरा किया.

अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के पहले साउथ के मंदिरों का दर्शन 

20 जनवरी को पीएम मोदी तिरुचिरापल्ली में श्री रंगनाथस्वामी मंदिर श्रीरंगम में जो मंदिर देश के सबसे प्राचीन मंदिर परिसरों में से एक है का दौरा कर पूजा अर्चना की. इसके बाद प्रधानमंत्री श्री अरुलमिगु रामनाथस्वामी मंदिर का पहुंचे. मान्यता है कि, इस मंदिर में पूजे जाने वाले मुख्य देवता श्री रामनाथस्वामी हैं, जो भगवान शिव का एक रूप हैं.  ऐसी मान्यता है कि इस मंदिर में मुख्य लिंगम की स्थापना और पूजा श्री राम और माता सीता ने की थी.
इसके बाद पीएम मोदी 21 जनवरी को धनुषकोडी के कोठंडारामस्वामी मंदिर में दर्शन-पूजन किया. कहा जाता है कि यहीं पर राम सेतु का निर्माण हुआ था. उसके बाद पीएम मोदी ने  500 साल की प्रतीक्षा को समाप्त करते हुए 22 जनवरी को अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा कर ऐतिहासिक कृतिमान स्थापित किया. इसके बाद पीएम मोदी 19 फरवरी को यूपी के संभल में कल्कि धाम मंदिर का भी शिलान्यास किया. 

 

 

Previous articleनौसेना का तीन दिवसीय सम्मेलन-शीर्ष कमांडर करेंगे विचार विमर्श